Gratitude to the Gurus (#MyProfRocks Challenge)

Here is an entry from the first ever #MyProfRocks Challenge - a Teacher's Day Special Event organized by Team LSD Gratitude to the Gurus - Of the First Online FDP of IIMA It has been an honor to attend the FDP organized by IIMA, the first to be conducted in Online mode in 2020. Attending…

[GloPoWriMo2020] – Day 30 – The Gift

The Gift Khushboo Tiwary  Long long ago, at a place near by There lived a girl, short and shy Full of love, vast as sky Holding hand, gazing deep into eye Righteous, generous, astonishing gorgeous She was a marvel bestowed upon us Our Life, our breath, a reason for existence In adversity, she taught persistence…

[GloPoWriMo2020] – Day 30 – Maa

Maa Nikhil Kedia  आज माँ को आधी रात फ़ोन कर जगाया, कुछ कहना था उनसे | आज पूनम की चाँद तले अश्क ने पलकों को नहलाया, उसे बहना था कबसे || इस चाँद की रौशनी में बीती बोहोत सी रातें, न जाने अनकही रह गयी यूँ दिल की कितनी बातें | माँ, उन बातो का…

[GloPoWriMo2020] – Day 30 – Love

Love Nitika Kundu  Beyond logic, beyond rationality, I exist I am that conscious which sometimes nudges you or doesnt let you sleep I am the feeling you get when you are heavenly happy or when you weep I exist in a loving heart Beyond the world of lies I exist as a twinkle In innocent…

[GloPoWriMo2020] – Day 30 – अकेलापन

अकेलापन Ketan Mundhada  अकेलापन ऐसे तो फेसबुक पर मेरे हजारो फ्रेंड्स हैं, फिर भी मैं रोज़ अकेले ही खाना खाता हूँ; इस व्यस्त दिनचर्या में किसी के पास समय कहाँ, इसलिए मैं अपने शिकवे अपनी परछाई से ही जताता हूँ। अँधेरे में तो परछाई भी छोड़ कर चली जाती हैं, उपरवाले की मेहरबानी,आज तो फिर…

[GloPoWriMo2020] – Day 30 – एक चुप्पी

एक चुप्पी Shubhangi Chowdhry  एक चुप्पी... एक लम्बी सी चुप्पी हैं आज हवाओं में, वो शोरगुल सी सड़के है एक सन्नाटे में, वो डरा सहमा सा माहोल हैं, पर सबके दिलों में एक ही दुआ हैं।। भाषायें अलग हैं, दिन कही आगे कही पीछे हैं ,पर सब गुज़र रहे एक ही मंज़र से हैं... एक…